जीवन साथी

नवीन चुपचाप खड़ा देख रहा था और सोच भी रहा था कि कैसे कुछ साल पहले सोमा ने माँ के पुराने सामान और फर्नीचर को रद्दी के भाव हटा दिया यह कहकर कि ये सभी पुराने हैं।

और जानेजीवन साथी

मुक्ति

पार्टी से लौटे तो देखा कि कमरे में ही वृद्ध ने शौच-पेशाब करके गंदगी फैला रखी है। बेटे-बहू का मूड खराब हो गया। बच्चे तो दूर से ही देखकर अपने कमरे में चले गए।

और जानेमुक्ति

दहलीज़

दहलीज़ की सीमा पुरुषों के लिए भी बराबर है वरुण। तीन साल पहले तुम गृहस्थी की दहलीज़ को लाँघ चुके हो। इतने समय से मैं अकेली अपना और बच्चों की जिम्मेदारियाँ उठा रही हूँ

और जानेदहलीज़

तंज

नुक्कड़ पर जमा लड़कों का ग्रुप निशा को देखकर फब्तियाँ कस रहा था। निशा उन्हें नजरअंदाज़ करते हुए थोड़ा आगे बढ़ जाती है और बस का इंतजार करने लगती है।

और जानेतंज

भूख की मार

‘आप हमारी बात को नहीं समझ रही हैं। हमारे यहाँ मात्र एक महीने के इलाज से आपकी अँग्रेजी दवा पूरी तरह छूट जाएगी। फिर आपको तो सिर्फ एक बार ही मोटी रकम खर्च करनी है।

और जानेभूख की मार

माँ

‘औलाद की! एक भी बेटा या बेटी हो जाती तो मैं अपने जीवन को सार्थक समझती!’‘अपनी औलाद तो अपनी नहीं होती रूपा! क्यों न हम कोई बच्चा गोद ले लें?’

और जानेमाँ