मैं उन्हें अच्छा लगता हूँ

मैं उन्हें अच्छा लगता हूँ

मैं उन्हें अच्छा लगता हूँ
जब उनके
घर-आँगन बुहारता हूँ
मैं उन्हें अच्छा लगता हूँ
जब मैं उनकी–
बेगारी करता हूँ
और जी-हजूरी करते हुए
दंडवत प्रमाण करता हूँ
मैं उन्हें अच्छा लगता हूँ
जब
पायँ लागू कहता हूँ
मैं उन्हें और भी अच्छा लगता हूँ
जब उनके धर्म
और देवी-देवताओं को
अपने काँधे पर
लादे फिरता हूँ।


Image :The Flute Player
Image Source : WikiArt
Artist : Giorgione
Image in Public Domain
Note : This is a Modified version of the Original Arwork


Notice: Undefined variable: value in /var/www/html/nayidhara.in/wp-content/themes/oceanwp-child/functions.php on line 154
सूरजपाल चौहान द्वारा भी