सबसे अधिक सुंदर और पवित्र

सबसे अधिक सुंदर और पवित्र

सबसे अधिक सुंदर
और सबसे अधिक पवित्र
आखिर क्या हो सकता है इस संसार में?
पूछा मैंने एक दिन अपनी आत्मा से
अपनी आत्मा के
किसी गहरे में जाकर
नहीं, वह ईश्वर तो कतई नहीं है
शायद वह, कोमल-सी मुस्कुराहट
हो सकती है एक
किसी भी बच्चे की।


Image: Carefree in Banaras
Artist: Anunaya Chaubey
© Anunaya Chaubey